मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव को गृह मंत्रालय ने दी ‘जेड प्लस’ सुरक्षा, -आईबी से खतरे का मिला था इनपुट

खबर शेयर करें

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव से पहले गृह मंत्रालय ने मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार की सुरक्षा को बढ़ाने का फैसला लिया है। गृह मंत्रालय ने मुख्य चुनाव आयुक्त को 5 श्रेणी की सुरक्षा दी गई है। दरअसल हाल ही में ढ्ढक्च की थ्रेट परसेप्शन रिपोर्ट आई थी जिसके बाद ही गृह मंत्रालय ने ये फैसला लिया है।

कैटगरी सुरक्षा प्रोटोकॉल के तहत, एक व्यापक सुरक्षा विवरण तैनात किया गया है। राजीव कुमार की सुरक्षा के लिए ष्टक्रक्कस्न कमांडो समेत कुल 33 सुरक्षाकर्मियों को नियुक्त किया गया है। इसमें सीईसी राजीव कुमार के आवास पर तैनात 10 सशस्त्र स्टैटिक गार्ड, 24 घंटे सुरक्षा प्रदान करने वाले 4 निजी सुरक्षा अधिकारी और तीन शिफ्टों में काम करने वाले 12 सशस्त्र एस्कॉर्ट कमांडो शामिल हैं। इसके अतिरिक्त, हर समय चुनाव आयुक्त की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए हर शिफ्ट में दो चौकीदार और तीन प्रशिक्षित ड्राइवर स्टैंडबाय पर रहते हैं।

फ़ास्ट न्यूज़ 👉  नाबालिग लड़की से दुष्कर्म के आरोप में 70 वर्षीय बुजुर्ग गिरफ्तार


राजीव कुमार की सुरक्षा स्थिति बढ़ाने का फैसला लोकसभा चुनाव से पहले चल रहे राजनीतिक परिदृश्य में बढ़ती उथल-पुथल के बीच आया है, क्योंकि तृणमूल कांग्रेस जैसे विपक्षी दल चुनाव आयोग के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। राजीव कुमार 1984 बैच के सेवानिवृत ढ्ढ्रस् अधिकारी हैं। उन्होंने 15 मई, 2022 को 25 वें मुख्य चुनाव आयुक्त का पदभार संभाला था। उन्हें 1 सितंबर, 2020 को निर्वाचन आयोग में चुनाव आयुक्त नियुक्त किया गया था।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 फ़ास्ट न्यूज़ के WhatsApp ग्रुप से जुड़ें

👉 फ़ास्ट न्यूज़ के फ़ेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 कृपया नवीनतम समाचारों से अवगत कराएं WhatsApp 9412034119