एसटीएच में मार्च में सामने आए बिलिंग घोटाले में जांच अधिकारियों को 34 रसीदें गायब मिलीं

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। एसटीएच में मार्च में सामने आए बिलिंग घोटाले में जांच अधिकारियों को 34 रसीदें गायब मिलीं हैं। वहीं मामले में दो नियमित कर्मचारियों की लापरवाही सामने आई है। दोनों कर्मचारियों को नोटिस देकर 14 दिन में जवाब तलब किया गया है। हालांकि प्रारंभिक तौर पर हुई कार्रवाई में इन दोनों कर्मचारियों को प्राचार्य कार्यालय से अटैच कर दिया गया था। एसटीएच में रेडियोलॉजी एवं केंद्रीय लैब से होने वाली जांचों के पैसे बिलिंग काउंटर में बैठे कर्मचारी अस्पताल के खाते में डालने की बजाय अपनी जेब में डाल रहे थे।

रकम एसटीएच के अकाउंट में जमा नहीं की जा रही थी। मार्च के पहले हफ्ते में मामला पकड़ में आने के कॉलेज प्रबंधन ने इसकी जांच वित्त नियंत्रक को दे दी। जिन्होंने करीब एक लाख से ज्यादा रसीदों की जांच की। जिसके बाद 7,57,867 रुपये का घपला सामने आया था। मामले में 34 रसीदें अभी भी गायब हैं। मामले की मुख्य आरोपी उपनल कर्मी निकली, जिसको पहले ही काम से निकाला जा चुका है। वहीं मामले में पंजीकरण प्रभारी की घोर लापरवाही सामने आई है और उनकी सहायक की लापरवाही मिली है। दोनों को नोटिस देकर 14 दिन में जवाब देने को कहा है। जिसके बाद दोनों पर आरोप तय किए जाएंगे।

फ़ास्ट न्यूज़ 👉  बागेश्वर...14 साल की किशोर ने घर में लगाई फांसी, पुलिस जांच में जुटी


बिलिंग में हुई गड़बड़ियों की जांच में 34 रसीदें गायब मिली हैं। मामले में एक कर्मचारी की घोर लापरवाही व एक की लापरवाही पाई गई है। दोनों को नोटिस देकर 14 दिन के भीतर जवाब देने को कहा गया है। जिसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।   –एसपी सिंह, वित्त नियंत्रक, राजकीय मेडिकल कॉलेज, हल्द्वानी

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 फ़ास्ट न्यूज़ के WhatsApp ग्रुप से जुड़ें

👉 फ़ास्ट न्यूज़ के फ़ेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 कृपया नवीनतम समाचारों से अवगत कराएं WhatsApp 9412034119