प्राथमिक शिक्षक संघ गंगोलीहाट के ब्लॉक अध्यक्ष भीमराज सिंह भंडारी का आकस्मिक निधन

खबर शेयर करें


-गंगोलीहाट क्षेत्र में शोक की लहर
-प्राथमिक विद्यालयों में शोक व्यक्त किया गया
-केदारनाथ में ली अंतिम सांस

कविता रावल
प्राथमिक शिक्षक संघ गंगोलीहाट के ब्लॉक अध्यक्ष व प्रभारी बीआरसी समन्वयक भीमराज सिंह भंडारी उम्र 48 पुत्र स्वर्गीय लक्ष्मण सिंह भंडारी का दिल का दौरा पड़ने से सोमवार रात 7 बजे केदारनाथ में आकस्मिक निधन हो गया। उक्त समाचार सुनते ही सम्पूर्ण गंगोलीहाट क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई।

वही शिक्षा विभाग ने उक्त दुखद घटना से एक अनुशासित, हसमुख व्यवहार के धनी शिक्षक को खो दिया। मंगलवार को भंडारी व उनके साथी शिक्षक बद्रीनाथ के दर्शन को जाने वाले थे लेकिन इससे पहले ही उनको भगवान ने बुला लिया । भीमराज भंडारी राजकीय आदर्श विद्यालय फुटसिल में कार्यरत थे। वही विभिन्न दायित्वों का भी वह कुशलता से निर्वहन कर रहे थे। भंडारी अपने साथी शिक्षकों इंद्र सिंह कार्की,भूपेश बिष्ट, पूरन सिंह परगाई,कमलेंद्र बोरा के साथ श्रीनगर गढ़वाल में आयोजित पुरानी पेंशन बहाली रैली में शामिल होने के लिए गए थे जो रविवार को संपन्न हो गई थी। सोमवार को भंडारी अपने साथी शिक्षकों के साथ केदारनाथ दर्शन के लिए जा रहे थे लेकिन केदारनाथ से 500 मीटर पूर्व अचानक हृदय गति रुक जाने से भंडारी का दुखद निधन हो गया जिनको साथी शिक्षक केदारनाथ बेस कैंप ले गए जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। भंडारी स्वयं पुरानी पेंशन के अंतर्गत आते थे परंतु नई पेंशन स्कीम से आच्छादित शिक्षकों व अन्य विभागों के कर्मचारियों के लिए संघर्षरत थे। भंडारी हर जरूरत मंद की मदद करने के साथ साथ धार्मिक व सांस्कृतिक कार्यक्रमों में बड़ चढ़ का भाग लेते थे । वह रविवार को तक अवकाश नहीं लेते थे और अधिकतर वह ऑफिस का कार्य रात के 9 बजे तक भी करते थे उनकी कर्तव्य परायणता व हंस मुख व्यवहार की मंगलवार को हर इंसान की जुबान पर था और उनके अकस्मात निधन से लोग गमगीन थे उनके निधन से गंगोलीहाट के समस्त शिक्षण संस्थानों सहित क्षेत्र शोक में डूब गया।

फ़ास्ट न्यूज़ 👉  बेटे के ससुरालियों पर मारपीट का आरोप

वे अपने पीछे पत्नी हंसा भंडारी, पुत्री प्रीति भंडारी,पुत्र प्रिंस भंडारी व लक्ष्य भंडारी को रोता बिलखता छोड़ गए हैं। भंडारी के निधन का समाचार उनके परिवार को मंगलवार को सोशल मीडिया से मिला। उनकी पत्नी हंसा भंडारी बेहोशी की हालत में है जबकि बिटिया देहरादून के ग्राफिक एरा से अध्यन कर रही है,बड़ा पुत्र 12वी में तो वही छोटा पुत्र 5वी कक्षा में अध्यनरत है। भंडारी का पैतृक गांव कंडाराछीना है लेकिन गंगोलीहाट के रावल गांव में उनका स्थायी निवास है।भंडारी का पार्थिव शरीर मंगलवार को हैली से सोनप्रयाग लाया गया, वहां से एंबुलेंस से पोस्टमार्टम हेतु रुद्रप्रयाग लाए जहां उनके भाइयों व साथी शिक्षको की मौजूदगी में डॉक्टरों ने उनका पोस्टमार्टम किया। मंगलवार देर रात तक उनका पार्थिव शरीर उनके गांव भराड़ी, कंडाराछीना पहुंचेगा। बुधवार को उनका अंतिम संस्कार सेराघाट के सरयू तट पर किया जाएगा। मंगलवार को भंडारी के निधन का समाचार सुनते ही उनके गंगोलीहाट स्थित घर पर सांत्वना देने वालों का तांता लग गया और सभी लोग गमगीन हो गए। वही खंड शिक्षा कार्यालय व राजकीय आदर्श विद्यालय फुटसिल में शोक व्यक्त कर उनकी आत्मा की शांति के लिए 2 मिनट का मौन रखा गया।

फ़ास्ट न्यूज़ 👉  ड्यूटी में लापरवाही बरतने पर तीन पुलिस कर्मी निलंबित

शोक व्यक्त करने वालो में प्राथमिक शिक्षक संघ गंगोलीहाट के ब्लॉक उपाध्यक्ष खीम सिंह भंडारी,कोषाध्यक्ष हरीश पंत,महामंत्री जगदीश डसीला,खंड शिक्षा अधिकारी आर सी मौर्या,शिक्षक नवीन पंत,रेणुका जोशी,आनंद सिंह,गोपाल मेहता,त्रिभुवन बिष्ट,जीवन नेगी,महिमा कार्की,जीवन वर्मा,दीपिका पंत,बलबीर प्रसाद,समाजसेवी हरगोविंद रावल,राजेंद्र सिंह बिष्ट,मुकुल शाह,भगवान भंडारी,उमेश जोशी,प्रदीप पंत,हंसा पाठक,उमेश जोशी,भीम सिंह रावल,कलावती बुंगला सहित गंगोलीहाट के समस्त राजनैतिक व सामाजिक संगठनों ने गहरा शोक व्यक्त किया है।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 फ़ास्ट न्यूज़ के WhatsApp ग्रुप से जुड़ें

👉 फ़ास्ट न्यूज़ के फ़ेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 कृपया नवीनतम समाचारों से अवगत कराएं WhatsApp 9412034119